Who will be the President of USA if result goes tie, Know the US Electoral system |अगर डोनाल्‍ड ट्रंप और जो बिडेन का चुनावी मुकाबला बराबरी पर छूटा तो कौन बनेगा राष्‍ट्रपति?

0
34


नई दिल्ली : अमेरिका में राष्ट्रपति चुनावों को लेकर करीब 50 फीसदी वोटिंग हो चुकी है. पोस्टल बैलेट (Postal Ballot) के जरिए करीब 9 करोड़ से ज्यादा लोग मतदान कर चुके हैं. बाकी बचे मतदाता चंद घंटों में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (President Donald Trump) और जो बिडेन (Joe Biden) के बीच व्हाइट हाउस (White House) की रेस को लेकर हुए चुनावी सर्वेक्षणों में बिडेन आगे हैं. आखिरी नतीजा (Final Result) सर्वेक्षणों और ओपिनियन पोल से अलग हो सकता है. इस दौरान एक स्थिति ये भी बन सकती है कि दिग्गजों के बीच दोनों के बीच चुनावी ‘नूरा कुश्ती’ बराबरी पर छूटे. यानी अगर फाइनल नतीजा टाई हुआ तो क्या कुछ हो सकता है आइये जानते हैं.

संभव है कि अमेरिका में  मुकाबला टाई हो जाए या अगर ट्रंप के मुताबिक परिणाम नहीं आया तो नतीजे की ये लड़ाई कई दिनों बाद तक जारी रह सकती है.

दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश का लोकतंत्र
दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका की आबादी करीब 33 करोड़ है. दुनिया के सबसे पुराने लोकतांत्रकि देश में बीस करोड़ से ज्यादा वोटर हैं. यहां लगभग 50 फीसदी मतदान हो चुका हैं और उसे लेकर राष्ट्रपति ट्रंप इतने चिंतित हैं कि अमेरिका में चुनावी नतीजों के बाद संवैधानिक संकट की स्थिति बनने के कयास लग रहे हैं.   

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की पूरी चयन प्रकिया
अमेरिकी में सिर्फ मतदाताओं की वोटिंग से ही राष्ट्रपति पद का चयन नहीं होता है. यानी अगर किसी को ज्यादा वोट मिल जाएं तो भी उसकी जीत पक्की नहीं होती. यानी उस उम्मीदवार का राष्ट्रपति बनना तय नहीं होता है. जैसा कि पिछले चुनाव (US Election 2016) में हुआ था. 

United States Electoral system
दरअसल पिछली बार के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के दौरान हिलेरी क्लिंटन (Hillary Clinton) को  लगभग 30 लाख वोट ज्यादा मिले थे लेकिन आखिरकार राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बने थे. यहां हर राज्य के वोटरों के वोट से कुल इलेक्टर चुने जाएंगे जो आखिर में देश का राष्ट्रपति चुनते हैं. 

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव का नंबर गेम
अमेरिका में कुल 538 इलेक्टर हैं जो कि राष्ट्रपति का चुनाव करेंगे जिसके लिए अमेरिकी संसद में दिसंबर की 14 तारीख को वोटिंग होगी. इसके मुताबिक राष्ट्रपति पद के लिए कुल वोटों की संख्या 270 होनी चाहिए. इन 538 में से 100 सीनेटर (अपर हाउस कांग्रेस मेंबर) होते हैं, इसके साथ ही 435 रिप्रेंजेटेटिव (लोवर हाउस) होते हैं वहीं 3 इलेक्टर वाशिंगटन डीसी (Washington DC) से भी चुने जाते हैं. ये संख्या 538 होती है जो कि सम संख्या (Even Number) है, इसलिए ये भी संभव हो सकता है डोनाल्ड ट्रंप और बिडेन दोनों को 269-269 ही वोट मिले तों इस स्थिति में चुनावी समर का परिणाम टाई यानी बराबरी पर छूट सकता है. 

चुनावी नतीजा टाई रहा तो राष्ट्रपति चुनने का अधिकार अमेरिकी सीनेट का होता है. सीनेट ने अभी तक  2 बार राष्ट्रपति का चुनाव किया है.  नतीजा टाई होने के बाद अमेरिकी संसद के निचले सदन (United States House of Representative) में वोटिंग होती है. जहां पर कुल सदस्यों नहीं बल्कि राज्यों के हिसाब से वोट का चयन होता है. इलेक्टर का चुनाव टाई होने पर यहां से उपराष्ट्रपति चुना जाएगा. उसके बाद नई सीनेट राष्ट्रपति पद के लिए वोटिंग करेगी. इसके बाद अगर यहां भी बात नहीं बनी तो निचले सदन के स्पीकर को कार्यकारी राष्ट्रपति बनाया जा सकता है. हालांकि ये लगभग रेयर ऑफ द रेयरेस्ट जैसी स्थिति होती है.

डोनाल्ड ट्रंप की चिंता 
कोरोना संकट (Corona Crisis) की वजह से अमेरिका का राष्ट्रपति चुनाव धीरे धीरे बेहद रोमांचक मोड़ पर पहुंचता जा रहा है. कोरोना से बचने के लिए बड़ी तादाद  में लोगों ने अपना वोट मेल के जरिए डाला है. ट्रंप शुरुआत से ही इन वोटों में सेंध की आशंका के चलते फर्जीवाड़े का इल्जाम लगाते रहे हैं. इसलिए भी इस बार का चुनाव काफी दिलचस्प हो चुका है.

LIVE TV
 



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here