Rajnath Singh big attack on 26/11 to Pakistan, Says terror module demolished and nursery of terrorism exposed | 26/11 की बरसी पर रक्षा मंत्री की पाकिस्तान को दो टूक, कहा- सुधर जाओ वरना….

0
16


नई दिल्लीः रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने 26/11 हमले के 12 साल पूरे होने के मौके पर शहीदों को श्रृद्धांजलि दी.  रक्षामंत्री ने कहा, ‘वैसे तो 12 साल का समय लम्बा समय होता है लेकिन 26/11 की घटना को कोई भी स्वाभिमानी देश कभी भुला नहीं सकता. उस दिन आतंकवाद ने भारत की संप्रभुता को चुनौती दी थी और मुझे इस बात का गर्व है कि हमारे सुरक्षा बलों ने एक भी आतंकी जिंदा वापस जाने नहीं दिया था.’

देश में नामुकिम है दोबारा 26/11 जैसा हमले को अंजाम देना
उन्होंने कहा, आज देश में राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े जो बदलाव हुए हैं, उससे हम सभी देशवासियों को यह विश्वास जरूर दिला सकते हैं कि अब भारत ने अपना आंतरिक और बाहरी सुरक्षा चक्र इतना मजबूत कर लिया है कि एक और 26/11 को हिंदुस्तान की धरती पर अंजाम देना अब लगभग नामुमकिन है. रक्षामंत्री ने कहा, अभी पिछले दिनों ही आप सब ने देखा, सुना और पढ़ा होगा कि सीमा पार से आतंकवादियों की एक और खेप भारत में घुस आयी थी जो इस बार फिर 26/11 को एक बड़ी आतंकवादी घटना को अंजाम देने का मंसूबा लेकर आए थे. जिन्हें हमारे देश की सेना, पुलिस और सुरक्षाबलों ने मिलकर उन सभी आतंकवादियों को अपने मंसूबों को अंजाम देने से पहले ही मौत के घाट उतार कर पाकिस्तान की एक और भारत विरोधी कारवाई को नाकाम कर दिया है. 

ये भी पढ़ें-Mumbai Terror Attack की 12वीं बरसी, इन शख्सियतों ने दी मृतकों को श्रद्धांजलि

6 सालों में आतंकवाद पर आया बड़ा बदलाव
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जब से भारत आजाद हुआ है तबसे भारत विरोधी ताकतों की यह लगातार कोशिश रही है कि या तो सीमाओं के रास्ते घुसपैठ कराकर भारत के भीतर अस्थिरता का माहौल बनाया जा सके. आतंकवाद के खिलाफ पिछले 6 सालों में एक बड़ा बदलाव आया है और वह है उसके खिलाफ भारत का जवाब देकर सबक सिखाना. पहले क्या होता था? आतंकी हमले होते थे, सेना एवं सुरक्षा बलों के जवान जवाबी कार्रवाई करते थे. सुबूत इशारा करते थे, कि पाकिस्तान से इन आतंकियों के तार जुड़े हुए हैं. 

ये भी पढ़ें-J&K: श्रीनगर में आतंकियों ने सुरक्षबलों को बनाया निशाना, हमले में 2 जवान शहीद

आतंकवाद के खिलाफ भारत का 360 डिग्री पर Response Action
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ भारत का Response Action, 360 डिग्री पर हो रहा है. अब भारत देश की सीमाओं के भीतर तो एक्शन लिया ही जा रहा है साथ ही जरूरत पड़ने पर सीमा पार जाकर भी आतंकी ठिकानों को नष्ट करने का काम सेना के जवान कर रहे हैं.  पाकिस्तान का भारत के खिलाफ आतंकवाद मॉडल धीरे-धीरे ध्वस्त हो रहा है और इसकी खिसियाहट उन्हें इतनी अधिक है कि अब वे भारत-पाकिस्तान सीमा पर आए दिन सीजफायर के उल्लंघन करने में लगे रहते है. सिंह ने कहा, हमने हाल के सालों में भारत में मौजूद हर तरह के टेरर इंफ्रास्ट्रक्चर को नष्ट करने में कामयाबी पाई है. अब अगला कदम आतंकवाद के वित्तीय नेटवर्क को बाधित करने की दिशा में लिया जा रहा है. 

ये भी पढ़ें-संविधान दिवस पर PM मोदी ने कहा- One Nation, One Election समय की जरूरत

बेनकाब हो चुकी पाकिस्तान की आतंकी नर्सरी
भारत ने दुनिया में एक कूटनीतिक दबाव बनाया है जिसके चलते पाकिस्तान के आतंकवाद की नर्सरी (Nursery of Terrorism) के रूप में बेनकाब हो चुका है. आतंकवाद के खिलाफ हमारे प्रधानमंत्री ने ग्लोबल फोरम पर जो जनमत बनाया है, उसका ही परिणाम है कि आये दिन पाकिस्तान के सिर पर एफएटीएफ (FATF) की तलवार लटकती नजर आती है.यह सच्चाई है कि भारत चीन के बीच सीमा को लेकर एक अवधारणात्मक अंतर है. इसके बावजूद कुछ ऐसे समझौते हैं, प्रोटोकॉल हैं जिनका पालन करते हुए सेनाएं LAC के पास पेट्रोलिंग करती हैं.

ये भी पढ़ें-PDP को एक और झटका, पार्टी के इन तीन वरिष्ठ नेताओं ने दिया एक साथ इस्तीफा

चीन से शांतिपूर्ण तरीके से निपटाना चाहते हैं विवाद
उन्होंने बताया कि एक बड़ा अन्तर जो आज देखने को मिल रहा है वह यह है कि आज राष्ट्रीय सुरक्षा को आंतरिक और बाहरी सुरक्षा के कम्पार्टमेंट में बांट कर देखने के बजाय एकीकृत तरीके से देखा जा रहा है. भारत और चीन के बीच सीमा का विवाद बातचीत के रास्ते और शान्तिपूर्ण ढंग से हो यह हम चाहते हैं. आर्मी कमांडर्स की कूटनीतिक स्तर पर बातचीत चल रही है लेकिन मैं देश को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम भारत की सीमा, सम्मान, स्वाभिमान से समझौता नहीं करेंगे.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here