Farmers are requested not to agitate will find solution through dialogue says Agriculture Minister Narendra Singh Tomar | Farmers Protest: कृषि मंत्री ने 3 दिसंबर को किसानों को बातचीत के लिए बुलाया, की ये अपील

0
15


नई दिल्ली : केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar)  ने किसानों से आंदोलन नहीं करने की अपील की है. उन्होंने कहा कि, ‘मैं अपने किसान भाइयों से अपील करना चाहता हूं कि वे आंदोलन न करें. हम मुद्दों के बारे में बात करने और मतभेदों को सुलझाने के लिए तैयार हैं. मुझे यकीन है कि हमारे संवाद का सकारात्मक परिणाम होगा.’

 

इस बीच पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने ट्वीट करके हरियाणा (Haryana) की खट्टर सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट में लिखा कि, ‘पंजाब में किसान बिना किसी समस्या के शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. हरियाणा सरकार बल का सहारा लेकर उन्हें क्यों उकसा रही है? क्या किसानों को सार्वजनिक राजमार्ग से शांतिपूर्वक गुजरने का अधिकार नहीं है?’

 

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए नए कृषि कानूनों को लेकर पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के किसान प्रदर्शन करते हुए लगातार दिल्ली की तरफ बढ़ रहे हैं. इसी बावत केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह ने कहा है कि तीन दिसंबर को किसानों से बात की जाएगी. कृषि मंत्री ने ये भी कहा कि नए कृषि कानून समय की जरूरत थे. हमने पंजाब में सचिव स्तर पर किसान भाइयों की गलत धारणाएं दूर करने को लेकर बात की है. अब हम तीन दिसंबर को इस पर विस्तार से बात करेंगे. 

वहीं किसानों के आंदोलन को लेकर दिल्ली में विशेष चौकसी बरती जा रही है. मेट्रो सेवा में दखल देना पड़ा. और बॉर्डर पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. 

पंजाब में राजनीतिक दलों पर आक्रोश
पंजाब से निकले किसानों ने शंबू बॉर्डर पर लंगर खाया. उन्हें उम्मीद है कि रात को लंगर दिल्ली में तैयार करेंगे. किसानों ने कहा सभी राजनीतिक पार्टियां एक जैसी है. कोई किसानों के बीच नहीं पहुंचा सिर्फ बयानबाजी की जा रही है. 

ये भी पढ़ें- J&K: श्रीनगर में आतंकियों ने सुरक्षबलों को बनाया निशाना, हमले में 2 जवान शहीद

 

रियाणा में जबर्दस्त हंगामा
पंजाब से दिल्ली कूच के लिए निकले किसानों को रोकने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग पर शाहाबाद के नजदीक गांव त्योडा के पास पुलिस द्वारा बैरिकेट्स लगा दिए गए हैं यहां पर किसानों को रोकने के लिए मिट्टी से भरे डंपरों को जीटी रोड पर खड़ा किया गया है. मौके का जायजा लेने के लिए कुरुक्षेत्र उपायुक्त शरणदीप कौर बराड़, पुलिस अधीक्षक हिमांशु गर्ग, एसडीएम डॉ किरण सिंह, एचसीएस अश्वनी मलिक सहित अन्य अधिकारी मौके पर खड़े हुए हैं. पंजाब के किसान कुछ ही देर में यहां पहुंच जाएंगे. वहीं जींद में दाता सिंह वाला बॉर्डर पर भी बैरीकेड तोड़ कर जब हजारों किसान आगे बढ़े तो मजबूरी में पुलिस को पीछे हटना पड़ा. 

आंदोलनकारियों ने की तोड़फोड़
हरियाणा और पंजाब में कई बॉर्डर पर आंदोलनकारी किसानों ने कई वाहनों में जमकर तोड़फोड़ भी की.

LIVE TV



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here