Cyclone Nivar landfall process of very severe cyclonic storm has started says IMD | Cyclone Nivar समुद्र तट से टकराया, 3 राज्‍यों में तबाही की आशंका

0
17


चेन्नई: भारतीय मौसम विभाग (Indian Meteorological Department) ने बुधवार को कहा कि भयंकर चक्रवाती तूफान ‘निवार’ (Cyclone Nivar) के समुद्र तट से टकराने की प्रक्रिया शुरू हो गई है और यह जल्द ही तट को पार कर जाएगा. IMD ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान निवार अभी पुडुचेरी के पूर्व- दक्षिणपूर्व में लगभग 40 किमी दूर स्थित कुड्डालोर से 50 किमी पूर्व-दक्षिणपूर्व में है. चक्रवाती तूफान के पहुंचने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. अगले 3 घंटों में पुडुचेरी के पास वाले तट को पार कर जाएगा.’

मौसम विभाग ने कहा है कि दक्षिण-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी में बने निवार चक्रवात ने पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ते हुए अति विकराल रूप धारण कर लिया है और चेन्नई से 160 किलोमीटर तथा पुडुच्चेरी से 85 किलोमीटर दूर तट से टकराने वाला है.

बता दें कि तूफान के आने से पहले ही तमिलनाडु में भारी बारिश हो रही है. चेन्नई में बुरे हालात हैं. जगह-जगह जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है. चेन्नई एयपोर्ट को बंद कर दिया गया है. तमिलनाडु और पुडुचेरी के अधिकारियों ने चक्रवाती तूफान से उत्पन्न हुई स्थिति से निपटने के लिए कई उपाय किए हैं. 

ये भी पढ़ें- साइक्‍लोन Nivar के कारण कैंसिल हुईं एक दर्जन ट्रेनें, किराया लौटाएगी Railways

चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट बंद
‘निवार’ के कारण चेन्नई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को गुरुवार की सुबह सात बजे तक बंद कर दिया गया है. यह जानकारी नागर विमानन मंत्रालय ने दी. नागर विमानन मंत्रालय ने ट्विटर पर लिखा, ‘चक्रवात निवार के कारण मौसम की स्थिति को देखते हुए सुरक्षा एवं एहतियात के तौर पर चेन्नई हवाई अड्डे को अस्थायी रूप से शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक बंद किया गया है. सभी संबंधित पक्षों के साथ समन्वय किया जा रहा है.’

ट्रेनें रद्द, रेलवे लौटाएगा पूरा किराया
रेलवे ने चक्रवात ‘निवार’ के मद्देनजर देश के दक्षिणी राज्यों से शुरू होने वाली या वहां खत्म होने वाली एक दर्जन से ज्यादा विशेष रेलगाड़ियों को 25 और 26 नवंबर को रद्द कर दिया है. रेलवे ने इन रेलगाड़ियों में टिकट बुक कराने वालों को टिकट रद्द कराने पर पूरा किराया वापस करने की पेशकश की है.

ये भी पढ़ें- Cyclone Nivar के तट से टकराने से पहले Chennai में आफत, देखें तस्वीरें

1 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया
तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटीय इलाकों से चक्रवात ‘निवार’ के मद्देनजर एक लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. NDRF प्रमुख एस एन प्रधान ने बुधवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि NDRF ने बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) से तटीय इलाकों की ओर बढ़ रहे चक्रवात से निपटने के लिए कुल 50 दलों को चिह्नित किया है, जिनमें से 30 टीमों को तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में जमीन पर तैनात किया गया है.

NDRF की टीमें मुस्तैद
विजयवाड़ा (आंध्र प्रदेश), कटक (ओडिशा) और त्रिशूर (केरल) में 20 दलों को तैयार रखा गया है. प्रधान ने कहा कि ‘चक्रवात के कारण पैदा होने वाली मुश्किल से मुश्किल चुनौती से निपटने के लिए’ सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

145 Km प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी हवा
प्रधान ने कहा, ‘ताजा रिपोर्ट के अनुसार, चक्रवात के पहले जताए पूर्वानुमान की तुलना में थोड़ा देर से पहुंचने की संभावना है और यह 26 नवंबर या गुरुवार रात को दो-तीन बजे के बाद पहुंच सकता है.’ उन्होंने कहा कि अत्यंत गंभीर चक्रवाती तूफान के कारण 130 से 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का पूर्वानुमान है. चक्रवात के मामल्लापुरम और कराईकल के बीच पहुंचने की संभावना है.

केंद्र से राज्यों को मिल रही मदद
प्रधान ने कहा, ‘तमिलनाडु से एक लाख से अधिक लोगों और पुडुचेरी से करीब 1,000-2,000 लोगों को स्थानीय प्राधिकारियों और एनडीआरएफ ने बाहर निकाला है.’ उन्होंने कहा कि चक्रवात पर नजर रख रहे राज्य और केंद्र के प्राधिकारियों के बीच ‘बढ़िया समन्वय’ है और बल के पास कटर जैसे उपकरण हैं और उसे फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए नौकाएं मुहैया कराई गई हैं.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here