Bihar BJP MLA Lalan Paswan files FIR against Lalu Yadav Over Audio Tape Case

0
10


रांची: बिहार बीजेपी के विधायक ललन पासवान (BJP MLA Lalan Paswan) ने जेल में बंद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (RJD supremo Lalu Prasad Yadav) के खिलाफ एक एफआईआर (FIR) दर्ज कराई है. बीजेपी के विधायक ललन पासवान का आरोप है कि लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) ने जेल से उनसे टेलीफोन पर संपर्क किया था और विधान सभा के अध्यक्ष के चुनाव के दौरान उन्हें मतदान न करने के लिए के लिए कहा था.

क्या है मामला
मामला एक ऑडियो क्लिप से जुड़ा हुआ है. दावा किया जा  रहा है कि यह ऑडियो क्लिप लालू यादव (Lalu Prasad Yadav) और बीजेपी विधायक ललन पासवान (BJP MLA Lalan Paswan) के बीच बातचीत का है. आरोप है कि लालू ने  पासवान को मंत्री पद देने की पेशकश करते हुए बदले में विधान सभा अध्यक्ष के पद के लिए एनडीए (NDA) के उम्मीदवार के खिलाफ विपक्ष की मदद करने को कहा. इस कथित ऑडियो टेप (Lalu Yadav Audio Tape) को लेकर बड़ा राजनीतिक विवाद शुरू हो गया है.

यह भी देखें: बिहार: लालू प्रसाद यादव का ‘तख्तापलट’ का प्लान फेल हो गया

एनडीए की सरकार गिराने की कोशिश?
बिहार की पीरपैंती विधान सभा सीट से बीजेपी विधायक ने आरजेडी प्रमुख के खिलाफ सतर्कता पुलिस थाने (vigilance police station) में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और भारतीय दंड संहिता (IPC) की संबंधित धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कराई है. एफआईआर में पासवान ने आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) पर ‘लोगों के जनादेश का अपमान’ करने का आरोप लगाया है. पासवान ने अपनी पुलिस शिकायत में आरोप लगाया है कि लालू यादव ने जानबूझकर जेल के अंदर से विधायक का वोट खरीदने के लिए फोन किया. यह एनडीए की सरकार गिराने की कोशिश है. विधायक ने आरोप लगाया है कि लालू यादव ने उनके समर्थन के बदले उन्हें मंत्री पद की पेशकश की.

चारा घोटाला मामले में काट रहे हैं सजा
बता दें, लालू यादव वर्तमान में रांची जेल (Ranchi Jail) में बंद हैं, चारा घोटाला (fodder scam) मामले में सजा काट रहे हैं. कथित तौर पर मंगलवार को उनके द्वारा फोन किया गया था. बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Modi) ने ट्विटर हैंडल पर एक ऑडियो क्लिप शेयर की है. इसमें लालू यादव पासवान से मतदान के दौरान कोरोना (Corona) का बहाना बनाकर गैरहाजिर रहने की सलाह दे रहे हैं. बीजेपी विधायक ने आरोप लगाया है कि आरजेडी प्रमुख ने मेरे मोबाइल फोन पर मुझसे संपर्क किया और महागठबंधन और उनकी पार्टी के पक्ष में अपना वोट खरीदने की कोशिश की.

यह भी पढ़ें: अंतिम चरण में है Corona Vaccine? पुणे के Serum Institute जाएंगे PM Modi

रिम्स पेइंग वार्ड में शिफ्ट
बिहार में बीजेपी विधायक पासवान के साथ उनकी कथित बातचीत का एक ऑडियो वायरल होने के बाद झारखंड सरकार (Jharkhand Government) ने आरजेडी अध्यक्ष की सुरक्षा कड़ी कर दी है. खबरों के मुताबिक, लालू को रिम्स निदेशक के आवास से रिम्स पेइंग वार्ड में स्थानांतरित कर दिया गया है. उन्हें रांची जेल अधीक्षक की कड़ी निगरानी में रखा गया है. रिम्स के पेइंग वार्ड में और उसके आसपास, जहां लालू को शिफ्ट किया गया है, सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. झारखंड सरकार ने ऑडियो क्लिप विवाद की जांच का भी आदेश दिया है.

चांज के आदेश
आईजी जेल ने कहा है कि लालू प्रसाद और विधायक के बीच बातचीत की कथित ऑडियो क्लिप सुनने के बाद जांच का आदेश दिया गया है. जेल मैनुअल न्यायिक हिरासत के दौरान फोन या मोबाइल का उपयोग करने की अनुमति नहीं देता है और यदि आरोप सही पाए गए तो पूछताछ की जाएगी कि लालू के पास मोबाइल फोन कहां से आया और इसके लिए कौन जिम्मेदार है. उन्होंने यह भी कहा कि न्यायिक हिरासत के दौरान किसी भी तरह की राजनीतिक वार्ता निषिद्ध है.

दोबारा होगा स्वास्थ्य परीक्षण
लालू यादव की बीमारी की उचित जांच करने और उन्हें वापस जेल भेजने के लिए झारखंड हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका पहले ही दायर की जा चुकी है. बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पहले ही दावा कर चुके थे कि लालू के पास एक मोबाइल फोन है, जिसके माध्यम से वह एनडीए के विधायकों को फोन कर रहे हैं.

LIVE TV
 



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here