गुर्जर आरक्षण आंदोलनकारी और गहलोत सरकार में इस बात को लेकर बनी सहमति!

0
38


सरकार ने कहा कि इस समस्या का समाधान केवल बातचीत से ही हो सकता है. . (फाइल फोटो)

सरकार ने कहा कि इस समस्या का समाधान केवल बातचीत से ही हो सकता है. . (फाइल फोटो)

राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने सोमवार को कहा कि आरक्षण (Reservation) सहित अन्य मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे गुर्जरों से बातचीत के लिए उसके दरवाजे खुले हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 2, 2020, 10:38 PM IST

जयपुर. राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने सोमवार को कहा कि आरक्षण (Reservation) सहित अन्य मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे गुर्जरों से बातचीत के लिए उसके दरवाजे खुले हैं. इसके साथ ही सरकार ने कहा कि इस समस्या का समाधान केवल बातचीत से ही हो सकता है. राज्य के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने इस मुद्दे पर सरकार की ओर से दिए गए एक बयान में यह बात कही. विधानसभा अध्यक्ष सी पी जोशी ने सदन की ओर से आंदोलनकारियों से अपील की कि वे आकर सरकार से बात करें और इस समस्या का समाधान निकालें.

आंदोलनकारियों से बातचीत के रास्ते खुले हैं
इससे पहले शर्मा ने इस मामले में सरकार द्वारा अब तक की गई पहलों से सदन को अवगत कराया. उन्होंने बताया कि गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के एक प्रतिनिधि मंडल ने 31 अक्तूबर को जयपुर में मंत्रिमंडलीय उपसमिति के साथ चर्चा की जिसमें 14 बिंदुओं पर सहमति बनी.

गुर्जर आरक्षण आंदोलन: आंदोलनकारियों ने दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर फिर बनाया बिछौना, PHOTOS Rajasthan- Jaipur- Gujjar Reservation Movement-Karauli- Bharatpur- agitators again put grass beds on railway tracks-PHOTOS

गुर्जर समाज के एक धड़े के इस रुख से पूर्वी राजस्थान में लोगों की परेशानियां बढ़ने लगी हैं.

पटरी पर बैठकर रास्ता नहीं निकलेगा- शर्मा
शर्मा ने कहा कि इसके बाद भी अगर संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला व उनके समर्थकों को लगता है कि कोई बिंदु या बात रह गयी तो वे आकर सरकार से बात करें. शर्मा ने कहा कि सरकार के दरवाजे बातचीत के लिए हमेशा खुले हैं और इस समस्या का समाधान पटरी पर बैठकर या सड़क मार्ग अवरुद्ध करने से नहीं बल्कि बातचीत से ही होगा. उन्होंने आंदोलनकारियों से शांति व्यवस्था बनाए रखने व राज्य की कानून व्यवस्था का ध्यान रखने की अपील की.

ये भी पढ़ें: MP उपचुनाव: सांवेर में ‘गद्दारी’ के दोतरफा आरोप, दोनों प्रमुख उम्मीदवारों ने दल बदल कर ठोकी ताल

इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष जोशी ने सदन की ओर से आंदोलनकारियों से अपील की कि सरकार से वार्ता कर समाधान निकालें. उल्लेखनीय है कि गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति ने अपनी मांगों को लेकर रविवार को बयाना में आंदोलन शुरू किया. अनेक युवा दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग की पटरियों पर बैठे हैं. कई सड़क मार्ग भी अवरुद्ध हैं. इस आंदोलन का नेतृत्व कर्नल बैंसला कर रहे हैं.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here