खुशखबरी! नवंबर में घटी बेरोजगारी दर, 2018 के बाद पहली बार निचले स्तर पर

0
22


नवंबर में घटी बेरोजगारी दर

नवंबर में घटी बेरोजगारी दर

केंद्र सरकार के लिए बड़ी खुशखबरी है. नवंबर महीने में बेरोजगारी दर (unemployment rate in India) में गिरावट देखने को मिली है. नवंबर में यह 6.51 फीसदी रही है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 2, 2020, 12:45 PM IST

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के लिए बड़ी खुशखबरी है. नवंबर महीने में बेरोजगारी दर (unemployment rate in India) में गिरावट देखने को मिली है. नवंबर में यह 6.51 फीसदी रही है. इससे पहले सितंबर 2018 में बेरोजगारी दर करीब 6.7 फीसदी थी. इसमें शहरी बेरोजगारी दर करीब 7.07 फीसदी रही, जोकि अक्टूबर महीने में 7.15 फीसदी रही थी. बता दें बेरोजगारी के ये आंकड़े सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMIE) की ओर से जारी किए गए हैं. देशभर में फैले कोरोना वायरस के बीच नवंबर महीने में बेरोजगारी के मोर्चे पर सरकार को राहत मिली है.

नवंबर में ग्रामीण बेरोजगारी दर कितनी गिरी
CMIE रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रामीण बेरोजगारी दर में भी गिरावट देखने को मिली है. नवंबर में ग्रामीण बेरोजगारी दर करीब 6.26 फीसदी रही है. वहीं, अक्टूबर महीने में ये दर 6.90 फीसदी रही थी. यानी नवंबर 2020 में 0.64 की गिरावट देखने को मिली. वहीं, अक्टूबर महीने में ग्रामीण बेरोजगारी दर 6.90 फीसदी रही थी.

यह भी पढ़ें: Kisan Andolan: आंदोलन से किसान भी डरे, कहीं दूध-अंडे की सप्लाई न हो जाए ठप्पएग्री सेक्टर में मिली रिकवरी

आपको बता दें इस साल कोरोना वायरस के चलते बेरोजगारी दर रिकॉर्ड 23.52 फीसदी पर पहुंच गई है. यह साल 2020 का सबसे ऊंचा लेवल दर्ज किया गया है. हालांकि इस साल एग्री सेक्टर में अच्छी रिकवरी देखने को मिली है. इस रिकवरी के चलते ही सरकार को सितंबर और अक्टूबर में थोड़ी राहत मिली है.

आइए आपको बताते हैं बेरोजगारी के लिहाज से टॉप-5 राज्य कौन-कौन से हैं-
>> टॉप 5 राज्यों की लिस्ट में हरियाणा की बेरोजगारी दर करीब 25.6 फीसदी रही है.
>> इसके बाद राजस्थान में 18.6 फीसदी बेरोगारी दर रही है.
>> गोवा में 15.9 फीसदी बेरोजगारी दर रही है.

>> हिमाचल प्रदेश में 13.8 फीसदी बेरोजगारी दर रही है.
>> त्रिपुरा में 13.1 फीसदी बेरोजगारी दर रही है.
>> पश्चिम बंगाल में 11.2 फीसदी बेरोजगारी दर रही है.
>> इसके अलावा बिहार में 10 फीसदी बेरोजगारी दर रही है.

देश की इकोनॉमी की हेल्थ का सही अंदाजा
CMIE की ओर से जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक, इंडियन इकोनॉमी की हेल्थ का सही पता बेरोजगारी दर के हिसाब से ही लगता है क्योंकि यह देश की कुल जनसंख्या में कितने रोजगार हैं इसको बताता है.

यह भी पढ़ें: हवाई यात्रा करने वालों के लिए खुशखबरी, Spicejet शुरू कर रहा 20 नई उड़ानें, चेक करें रूट्स

एग्री सेक्टर में रहेगा शानदार प्रदर्शन
इसके अलावा थिंक टैंक को उम्मीद है कि रबी फसल की बुआई की शुरुआत में तेजी देखने को मिल सकती है. इसका मतलब है कि चालू वित्त वर्ष में एग्री सेक्टर एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करेगा. इससे प्रवासी मजदूर खेतों की ओर वापसी करेंगे.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here