केसर की खेती किसानों को बनाएगी मालामाल! पहली ही बार में होगी लाखों की कमाई

0
15


नई दिल्ली: आज के समय में असली केसर मिलना काफी मुश्किल है…लेकिन क्या आपको पता है कि आप बहुत ही आसानी से केसर की खेती कर सकते हैं और असली केसर की पैदावर कर सकते हैं. बता दें केसर का रेट्स इतना ज्यादा होता है कि इसको लाल सोना के नाम से भी लोग जानते हैं. आज हम आपको केसर की खेती के बारे में पूरी डिटेल में बताएंगे, जिसके जरिए आप भी केसर की खेती करके अच्छी कमाई कर सकते हैं. इस खेती के जरिए किसान लाखों की कमाई आसानी से कर सकता है.

कितनी है असली केसर की कीमत
भारत में केसर की कीमत इस समय 2,50,000 से 3,00,000 प्रति किलो तक हो गई है. इसके अलावा इसके लिए 10 वॉल्व बीज का इस्तेमाल किया जाता है, इसकी कीमत 550 रुपए के करीब है.

यह भी पढ़ें: सिर्फ 5 हजार रुपए में शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगी लाखों की कमाई…!किस तरह की चाहिए जलवायु

केसर की खेती समुंद्र तल से 1500 से 2500 मीटर की ऊंचाई पर होती है. इस खेती के लिए ठीकठाक धूप की भी जरूरत होती है. ठंडे औग गीले मौसम में इसकी खेती नहीं की जा सकती है. गर्म मौसम वाली जगहों के लिए ये खेती बेस्ट है.

किस तरह की जमीन में करें उत्पादन
केसर के उत्पादन के लिए आपको ध्यान देना होगा की जिस खेत में आप केसर की खेती करने जा रहे है उसकी मिटटी रेतीली, चिकनी, बलुई या फिर दोमट होनी चाहिए, लेकिन केसर की खेती अन्य मिट्टी में भी आसानी से हो जाता है. बता दें पानी के जमाव की वजह से केसर के Corms खराब हो जाते हैं और फसल बर्बाद हो जाती है इसलिए इस तरह की जमीन देखें जहां पानी न भरे.

इस तरह करें तैयारी

केसर का बीज बोने या लगाने से पहले खेत को अच्छी तरह से जुताई की जाती है. इसके अलावा मिट्टी को भुरभुरा बना कर आखिरी जुताई से पहले 20 टन गोबर का खाद और साथ में 90 किलोग्राम नाइट्रोजन 60 किलोग्राम फास्फोरस और पोटास प्रति हेक्टेयर के दर से अपने खेत में डाला जाता है. इससे आपकी जमीन उर्वरक रहेगी एवं केसर की फसल काफी अच्छी होगी.

सही समय पर लगाएं बीज
किसी भी फसल को रोपने का एक निश्चित समय होता है और सही समय पर बीज नहीं रोपने से हमे अच्छी फसल नहीं मिल पाती है इसलिए बीज को हमेशा निर्धारित समय पर ही खेतो में लगाएं. केसर की फसल लगने का सही समय ऊंचे पहाड़ी क्षेत्र में जुलाई से अगस्त है लेकिन मध्य जुलाई के समय को सर्वश्रेष्ठ होती है जबकि मैदानी क्षेत्रों में फरवरी से मार्च है.

कैसे डालें बीज
केसर के croms लगाते वक्त ध्यान रखे कि croms को लगाने के लिए 6-7 cm का गड्ढ़ा करें और दो corms के बीच की दूरी लगभग 10 cm रखें. इससे croms अच्छे से फलेगी और पराग भी अच्छे मात्रा में निकलेगा.

यह भी पढ़ें: Indian Railways: रेलवे नें कैंसिल कर दी कई ट्रेनें, सफर करने का है प्लान तो चेक कर लें ये लिस्ट…!

इस तरह होगी बढ़िया कमाई
एक बार केसर के पैदावार के बाद इसे अच्छे तरह से Pack कर किसी भी नजदीकी मंडी में अच्छे दामों में बेच सकते है. असली केसर की डिमांड सभी जगह पर है आप अपने खेत से केसर पैदा कर बढ़िया कीमतों पर बेच सकते हैं. इसके अलावा आप इसे ऑनलाइन भी सेल कर सकते हैं.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here