किसानों को दिल्‍ली कूच से रोकने पर भड़के सुखबीर बादल, कहा- आज पंजाब में 26/11 जैसा माहौल

0
19


सुखबीर सिंह बादल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. (प्रतीकात्‍मक फोटो-ANI)

सुखबीर सिंह बादल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. (प्रतीकात्‍मक फोटो-ANI)

Farmers Protest: अकाली दल ने शांतिपूर्ण किसान आंदोलन को दबाने के लिए हरियाणा सरकार और केंद्र सरकार की निंदा की है. अपने हकों की लड़ाई लड़ने जा रहे किसानों पर पानी की बौछारें करके उनके अधिकारों को दबाया नहीं जा सकता. ऐसा करने से किसानों का संकल्‍प और मजबूत होगा.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 26, 2020, 5:59 PM IST

चंडीगढ़. कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में दिल्‍ली में आंदोलन करने जा रहे किसानों को हरियाणा पुलिस ने रोकने की कोशिश की. दिल्‍ली-करनाल हाइवे से राजधानी की ओर बढ़ रहे किसानों पर पुलिस ने वॉटर कैनन का इस्‍तेमाल किया. शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) ने सरकार के इस कदम की सख्‍त शब्‍दों में निंदा की. सुखबीर सिंह बादल ने ट्वीट किया, ‘आज पंजाब का हाल 26/11 जैसा है. हम लोकतांत्रिक विरोध के अधिकार का अंत देख रहे हैं. अकाली दल ने शांतिपूर्ण किसान आंदोलन को दबाने के लिए हरियाणा सरकार और केंद्र सरकार की निंदा की है. अपने हकों की लड़ाई लड़ने जा रहे पंजाब के किसानों पर पानी की बौछारें करके उनके अधिकारों को दबाया नहीं जा सकता. ऐसा करने से किसानों का संकल्‍प और मजबूत होगा.’

सरकार की क्रूरता के खिलाफ डटकर खड़ा है देश का किसान: राहुल
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के ‘दिल्ली चलो’ मार्च की पृष्ठभूमि में बृहस्पतिवार को दावा किया कि केंद्र सरकार की ‘क्रूरता’ के खिलाफ देश के सभी किसान डटकर खड़े हैं. उन्होंने दिल्ली पहुंचने का प्रयास कर रहे किसानों पर पानी की बौछार करने से जुड़ा एक वीडियो ट्विटर पर साझा कर सरकार पर निशाना साधा. कांग्रेस नेता ने एक कविता ट्वीट की, ‘नहीं हुआ है अभी सवेरा, पूरब की लाली पहचान, चिड़ियों के जगने से पहले खाट छोड़ उठ गया किसान, काले क़ानूनों के बादल गरज रहे गड़-गड़, अन्याय की बिजली चमकती चम-चम, मूसलाधार बरसता पानी, ज़रा ना रुकता लेता दम…!’ राहुल गांधी ने दावा किया, ‘मोदी सरकार की क्रूरता के ख़िलाफ़ देश का किसान डटकर खड़ा है.

उल्लेखनीय है कि पंजाब के बहुत सारे किसान केन्द्र के कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ ‘दिल्ली चलो मार्च’ के तहत राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने की कोशिश में हैं. इसको देखते हुए हरियाणा ने पंजाब से लगी अपनी सभी सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया है.दिल्ली की ओर मार्च कर रहे किसानों को रोकने को लेकर अमरिंदर ने खट्टर पर साधा निशाना 

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को दिल्ली की ओर मार्च कर रहे किसानों को रोकने के लिए भाजपा नीत हरियाणा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके खिलाफ ‘कठोर बल’ का इस्तेमाल ‘पूरी तरह अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक’ है. पंजाब के किसानों को केन्द्र के कृषि संबंधी कानूनों के खिलाफ प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च के लिए हरियाणा से लगी सीमाओं के पास इकट्ठा होता देख, हरियाणा ने पंजाब से लगी अपनी सभी सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया है.

सिंह ने ट्वीट किया, ‘हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर की सरकार किसानों को दिल्ली जाने से क्यों रोक रही है? शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे किसानों के खिलाफ क्रूर बल का इस्तेमाल अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक है.’ उन्होंने कहा कि किसान कृषि कानून के खिलाफ दो महीने से पंजाब में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं. सिंह ने पूछा, ‘बल का सहारा लेकर हरियाणा सरकार उन्हें क्यों उकसा रही है? क्या किसानों को शांतिपूर्ण तरीके से एक सार्वजनिक राजमार्ग से गुजरने का अधिकार नहीं है?’

हरियाणा पुलिस ने बृहस्पतिवार को पंजाब के किसानों के एक समूह को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछारें की और आंसू गैस का इस्तेमाल किया. ये किसान केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत कथित तौर पर पुलिस अवरोधक लांघ कर हरियाणा में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे. पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक ‘दुखद विडंबना’ है कि संविधान दिवस पर किसानों के संवैधानिक अधिकार का ‘दमन’ किया जा रहा है. सिंह ने कहा, ‘यह बेहद दुखद विडंबना है कि 2020 संवैधानिक दिवस पर किसानों के संवैधानिक अधिकारों का इस तरह से दमन किया जा रहा है. खट्टर जी, उन्हें आराम से वहां से निकलने दें, उन्हें उकसाए नहीं. उन्हें शांतिपूर्ण तरीके से अपनी आवाज दिल्ली तक पहुंचाने दें.’



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here