अप्रैल-नवंबर 2020 में देश का निर्यात कारोबार 17.84 फीसदी घटा, आयात में भी गिरावट

0
15


कोरोना संकट के कारण अप्रैल-नवंबर 2020 के दौरान देश के आयात-निर्यात कारोबार में कमी आइ्र है.

कोरोना संकट के कारण अप्रैल-नवंबर 2020 के दौरान देश के आयात-निर्यात कारोबार में कमी आइ्र है.

केंद्र सरकार (Central Government) के मुताबिक, चालू वित्‍त वर्ष के पहले आठ महीने यानी अप्रैल-नवंबर 2020 के दौरान देश का आयात (Import) कारोबार भी 33.56 फीसदी घटा है. इससे देश का व्‍यापार घाटा (Trade Deficit) भी कम हुआ है. इस दौरान फार्मास्‍युटिकल्‍स सेक्‍टर (Pharma Sector) के निर्यात में 15 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 2, 2020, 8:17 PM IST

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus Crisis) को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के कारण दुनियाभर में आर्थिक गतिविधियां ठप हो गई थीं. कोई देश ना तो दूसरे देशों को सामान भेज रहा था और न ही मंगा रहा था. इसलिए चालू वित्‍त वर्ष (FY21) के शुरुआती आठ महीने यानी अप्रैल-नवंबर 2020 के दौरान भारत के निर्यात (Export) कारोबार में भी गिरावट दर्ज की गई है. इस दौरान देश के निर्यात में 17.84 फीसदी की कमी आई है. वाणिज्‍य सचिव अनूप वाधवन ने कहा कि इस दौरान निर्यात ही नहीं आयात (Import) में भी गिरावट दर्ज की गई. इससे देश का व्‍यापार घाटा (Trade Deficit) भी कम हुआ है.

केंद्र को उम्‍मीद, 1000 डॉलर के निर्यात लक्ष्‍य को करेंगे हासिल
वाधवन ने व्यापार बोर्ड (BoT) की बैठक के दौरान कहा कि वित्‍त वर्ष 2020-21 में अप्रैल-नवंबर के दौरान निर्यात में 17.84 फीसदी की कमी आई है. हालांकि, अगर हम रत्‍न व आभूषण और पेट्रोलियम (Petroleum) को अलग कर दें तो यह गिरावट कम रही है. उन्‍होंने बताया कि इस दौरान फार्मास्‍युटिकल सेक्‍टर (Pharmaceuticals Sector) का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है. अप्रैल-नवंबर 2020 के दौरान इस सेक्‍टर के निर्यात में 15 फीसदी की बढ़ोतरी आइ्र है. इसके अलावा चावल का निर्यात (Rice Export) 39 फीसदी और लौह अयस्क का 62 फीसदी बढ़ा है. वाणिज्य व उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने उम्‍मीद जताई है कि देश 2025 तक 1,000 अरब डॉलर के निर्यात के लक्ष्य को हासिल कर लेगा.

ये भी पढ़ें- भारत के सामने झुका चीन! बीजिंग ने 30 साल में पहली बार नई दिल्‍ली से खरीदा चावल‘कोरोना संकट के बीच देश तेजी से सुधार की ओर बढ़ रहा है’

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयाल ने कहा कि कोरोना संकट के बीच देश काफी तेजी से सुधार की ओर बढ़ रहा है. इस संकट के कारण देश के उद्योगों (Industries) की जुझारू क्षमता बढ़ी है. अंतरराष्ट्रीय आपूर्ति श्रृंखला (International Supply Chain) भारत की ओर देख रही है. देश के लिए लाभ की स्थिति वाले क्षेत्रों की पहचान की जा रही है. साथ ही उन्हें केंद्र सरकार की ओर से समर्थन भी दिया जा रहा है. उन्‍होंने कहा कि हमने 24 उद्योगों की पहचान की है. इनके बारे में हमारा मानना है कि इनकी मदद से हम 20 लाख करोड़ रुपये का वार्षिक विनिर्माण (Annual manufacturing) जोड़ सकते हैं.



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here